Click here for Myspace Layouts

Tuesday, April 12, 2011

उत्साहवर्धक सन्देश

                    समस्त आत्मीय जनों को आपके अपने गौरव शर्मा "भारतीय" की ओर से सादर प्रणाम, आदाब, सतश्री अकाल !!
{अतिश भाई अपने दुकान परअभियान भारतीय हेतु सन्देश प्राप्त करते हुए}
              सर्वप्रथम मै समस्त आत्मीय जनों से देरी के लिए माफ़ी चाहता हूँ | दरअसल अभियान भारतीय परिवार का प्रत्येक सदस्य इन दिनों अभियान भारतीय को जन जन तक पहुंचाने और भारतीयता की भावना को प्रखरता प्रदान कर इस महाभियान को सफल बनाने हेतु तन, मन, धन से संलग्न है |   कोई सन्देश प्राप्त कर रहा है तो कोई विभिन्न स्थानों पर जाकर इस महाभियान के विषय में लोगों को जानकारी प्रदान कर इसमें शामिल होने हेतु प्रेरित करने में लगा है वहीँ  हमारे कुछ युवा साथीगण स्कूलों और कालेजों में जाकर देश के भावी कर्णधारों को अभियान भारतीय से जोड़ने का कार्य कर रहे हैं वाकई इस निस्वार्थ,गैर राजनैतिक, गैर जातीय, गैर धार्मिक, जन्चेत्नात्मक महान्दोलन को जन जन तक पहुंचाने और जन जन में भारतीयता की भावना का संचार करने हेतु हमारे साथीगण शिद्दत के साथ जुटे हुए हैं और मुझे आप सभी को यह बताते हुए आत्मीय प्रसन्नता हो रही है की यह प्रयास आजकल रंग लाने लगा है |
{अभियान भारतीय हेतु प्राप्त सन्देश}
                       अभियान भारतीय को देश के विभिन्न हिस्सों से व्यापक जनसमर्थन, जनविश्वास और देश के समस्त वर्गों से सहृदय सहयोग प्राप्त हो रहा है और इसका प्रत्यक्छ प्रमाण हैं वे सन्देश जो हमें पत्र, इमेल और न जाने कितने माध्यमों से हमें प्राप्त हो रहे हैं | इन संदेशों में लोगों ने अपनी भावनाओं को अपने विचारों को कितने बेहतरीन तरीकों से प्रस्तुत किया है किसी ने अपनी बात कहने के लिए कविता को माध्यम बनाया है तो किसी ने सविस्तार वर्णन हेतु निबंध का सहारा लिया है और सर्वाधिक रोचक तथ्य यह है की इन समस्त संदेशों में हमें भारतीयता के जिवंत दर्शन होते हैं निश्चित रूप से ये सन्देश ये विचार हमारे लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं इसके साथ ही विभिन्न सुझावों एवं मार्गदर्शन भी इस महाभियान के कुशल सञ्चालन हेतु अत्यंत आवश्यक है  |
{सन्देश पुस्तिका में अपने सन्देश लिखते एक सज्जन }
               अभियान भारतीय को प्राप्त होने वाले इन संदेशों, विचारों ने वाकई हमें और व्यक्तिगत रूप से मुझे भारत को, अपने महान देश को जानने और समझने का बेजोड़ अवसर उपलब्ध कराया है | यहाँ यह बताना आवश्यक है की हर दिन हमें देश के किसी न किसी हिस्से से फोन पर भी अनेक सन्देश प्राप्त होते हैं और रोज़ इस महाभियान से नए नए लोग जुड़ते चले जाते हैं जन जन से प्राप्त इन संदेशों,  शुभकामनाओं, समर्थन, सहयोग, मार्गदर्शन एवं आशीर्वाद से ही हममे अभूतपूर्व उत्साह का संचार होता है और हमें कार्य करने हेतु नयी उर्जा मिलती है अतः मै अपने समस्त आत्मीय जनों से सादर निवेदन करता हूँ की आप अपने सन्देश, अपने विचार, अपनी बातें, अपने महत्वपूर्ण सुझाव हमें अवश्य प्रेषित करते रहें जिससे हम अपने उद्देश्य में, भारतीयता की भावना को जन जन में पुनर्जागृत करने के उद्देश्य में सफल हो सकें और हमारा यह महान देश विश्वगुरु के पद पर पुनः प्रतिष्ठित हो सके |
         अपने सन्देश निम्नांकित पते पर अवश्य प्रेषित करें :-
गौरव शर्मा "भारतीय" 
शुभाष नगर प्रोफ़ेसर कालोनी रायपुर {छ.ग}
09301988885
abhiyanbhartiya.211@gmail.com                                                                                                 ***जय हिंद, जय भारत, जय अभियान भारतीय*** 

5 comments:

  1. सचमुच उत्साहवर्धक....
    यह उत्साह बना रहे... शुभकामनाएं ...
    जय हिंद, जय अभियान भारतीय...

    ReplyDelete
  2. बहुत अच्छा लगा यह जानकर..... शुभकामनायें.....जय हिंद

    ReplyDelete
  3. सचमुच उत्साहवर्धक....
    यह उत्साह बना रहे... शुभकामनाएं ...
    जय हिंद, जय अभियान भारतीय..

    ReplyDelete
  4. ये अभियान सफल हो और जन-जन तक पहुंचे।
    शुभकामनाएं।

    ReplyDelete
  5. कृपया मेरी भी कविता पढ़ें और अपनी राय दें..
    www.pradip13m.blogspot.com

    ReplyDelete